पीलिया :-यदि आपका कोई अपना या परिचित पीलिया रोग से पीड़ित है तो इसे हलके से नहीं लें, क्योंकि पीलिया इतन घातक है कि रोगी की मौत भी हो सकती है! इसमें आयुर्वेद और होम्योपैथी का उपचार अधिक कारगर है! हम पीलिया की दवाई मुफ्त में देते हैं! सम्पर्क करें : 0141-2222225, 98285-02666

Friday, March 2, 2012

भ्रष्‍टाचार का समंदर बना मध्‍य प्रदेश!

भोपाल. मध्‍य प्रदेश में भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ लोकायुक्‍त का शिकंजा कसता जा रहा है। इंदौर स्थित सेंट्रल जेल के अधीक्षक पुरुषोत्‍तम सोमकुंवर के भोपाल और इंदौर स्थित ठिकानों पर छापे के दौरान 15 करोड़ से अधिक की संपत्ति का खुलासा हुआ है।
प्रदेश में एक साल में ऐसे ही भ्रष्‍ट अधिकारियों के घर से करीब 550 करोड़ रुपये मिले हैं। इनमें से केवल तीन को ही सजा हुई है। बाकी अधिकारियों को या तो निलंबित किया गया है, या फिर उनका तबादला किया गया है। कुछ के खिलाफ अब भी जांच चल रही है, इस तरह उनकी नौकरी बची हुई है।
जेल अधीक्षक की संपत्ति
जेल अधीक्षक सोमकुंवर के घरों से कुल 7.65 लाख रुपए और लॉकर से 12 हजार रुपए नकद मिले है। वह लंबे समय तक भोपाल में तैनात रहे। कुछ समय ग्वालियर में भी रहे। लोकायुक्त इंदौर के एसपी वीरेंद्र सिंह के अनुसार भोपाल में सोमकुंवर के चार मकान हैं। इनमें चूना भट्टी में दो, एक कोलार रोड पर और एक इंद्रपुरी में है। इंद्रपुरी वाले मकान में गर्ल्‍स हॉस्टल संचालित होता है।
सोमकुंवर के दोनों शहरों में सात बेशकीमती भूखंड मिले हैं। इनमें से पांच भोपाल और दो इंदौर में हैं। करीब 14 एकड़ कृषि भूमि का भी पता चला है। छापे में 50 लाख का घरेलू सामान, अकेले इंदौर की बैंक में जमा 75 लाख रुपए का भी पता चला है। भोपाल में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की टीटी नगर शाखा से लॉकर में 2 लाख रुपए के जेवर 12 हजार रुपए नकद मिले हैं। इंदौर में बैंक ऑफ महाराष्ट्र शाखा पलासिया में एक लॉकर के भी दस्तावेज मिले जिसे शुक्रवार को अधीक्षक की पत्नी की मौजूदगी में खोला जाएगा।
लोकायुक्त पुलिस के अनुसार सोमकुंवर के पास स्वर्णाभूषण सहित दस्तावेज के मान से पांच करोड़ और वर्तमान गाइड लाइन के मान से 15 करोड़ की संपत्ति मिली है।
Source: dainikbhaskar.com | Last Updated 11:40(02/03/12) स्त्रोत : दैनिक भास्कर

No comments:

Post a Comment

Followers